जम्हाई क्यों आती है ?

जम्हाई हम सभी को आती है, इसका कोई वक्त नहीं होता | उबासी या जम्हाई एक ऐसी प्रक्रिया है जो हर व्यक्ति को चाहे अनचाहे कभी भी आ सकती है अभी तक हम यही मानते थे कि व्यक्ति को जब नींद आती है या फिर वह बोर हो रहा होता है तो उसे उबासी या जम्हाई अपने आप ही आने लगती है और बहुत सारी हवा मुहं से निकल जाती है | और इस प्रक्रिया को ही जम्हाई लेना कहते है |

वैज्ञानिक मानते है कि यह शरीर की एक प्रत्यावर्ती क्रिया है | इसका नियंत्रण सुषुम्ना और तंत्रिका केंद्र करते है |

उबासी या जम्हाई तब आती है जब खून में कार्बनडाईऑक्साइड और ओक्सीजन की मात्रा गड़बड़ करने लगती है | जम्हाई के समय हम गहरी साँस लेते है और धीरे-धीरे साँस छोड़ते है | जब कभी भी व्यक्ति का शरीर सुस्त पड़ जाता है, तो खून में ओक्सीजन की मात्रा कम हो जाती है | इस कमी को पूरा करने के लिए जम्हाई आती है जब कोई व्यक्ति जम्हाई लेता है तो साँस के जरिये काफी मात्रा में ओक्सीजन शरीर में पहुंचती है, जिससे दिल की धड़कन तेज हो जाती है | इससे शरीर, फेफड़े और खून में जमा हुई कार्बनडाईऑक्साइड को बाहर निकालने में सफल हो जाता है |

Share this