त्वचा का कालापन मिटाने एवं रंग साफ करने के लिए

एक बाल्टी ठन्डे पानी में दो नींबू का रस मिलाकर गर्मियों में लगातार कुछ महीने नहाने से त्वचा का कालापन मिटता है | सर्दियों में हलके गरम पानी में नींबू निचोड़कर नहा सकते है | नींबू मिले हुए जल से स्नान करने पर रोम-छिद्र खुल जाते है और त्वचा का रंग गौरा होने लगता है | त्वचा का रंग गौरा होने के साथ-साथ त्वचा सम्बन्धी कई रोगों से भी छुटकारा मिल जाता है | नींबू की जगह हम आवले का भी इस्तेमाल कर सकते है | आवला भी नींबू की ही तरह कार्य करता है |
 




 
या फिर इमली से भी हम अपना सावला रंग गौरा कर सकते है | ६० ग्राम इमली लेकर २५० ग्राम पानी में इमली भिगो दे | इमली के फूलने पर उसे मसलकर उसकी चटनी के समान बना ले | इसे शरीर की त्वचा पर अच्छी तरह से मल ले फिर दस-पंद्रह मिनट बाद नहा ले तो कुछ ही दिनों में काला व्यक्ति गौरा होने लगता है तथा झाई, दाग, पित्ती आदि से छुटकारा मिल जाता है | गर्मियों के मौसम में सप्ताह में दो बार या फिर तीन-चार सप्ताह तक यह प्रयोग करे |

रंग गौरा करने के लिए हम आवले का मुरब्बा भी खा सकते है | आवले का मुरब्बा रोज एक नग सुबह-सुबह खाए लगभग दो महीने तक तो सावला रंग साफ होने लगता है आवले के दो महीने सेवन करने से रंग निखरने लगता है |

चेहरे का सावलापन दूर करने के लिए चार बादाम गिरियों को सुबह पानी में भिगो दे | शाम को बादामो का छिलका उतारकर उन्हें दो चम्मच भैंस या गाय के दूध में बारीक़ पीस ले इस घोल को बादाम-दुग्ध कहते है | बादाम-दुग्ध रात को सोते समय चेहरे पर लगाकर सो जाए और सवेरे उठकर चेहरे को ठन्डे पानी से धो ले | लगभग पंद्रह दिन तक लगातार प्रयोग करने से चेहरे की रंगत ही बदल जाती है | और सावला चेहरा निखर उठता है |

सावधानिया :-

इस विधि का प्रयोग करने से पहले कृपया अपने डॉक्टर की परामर्श जरुर ले ले | क्योकि सबकी अलग अलग तव्चा होती है |

Share this

Leave a Comment