नॉन स्टिक बर्तन कैसे काम करता है ?

हमारे घरो में आजकल नॉन स्टिक बर्तन का खूब प्रयोग हो रहा है | जिसे देखो उसी के घर में आपको नॉन स्टिक के बर्तन मिल जायेगे | नॉन स्टिक बर्तनों में खाना बिलकुल नहीं चिपकता है और यही वजह इसको बहुत ज्यादा लोकप्रिय बना रही है | और हममे से ना जा कितने लोग ये जानना चाहते है की वो कौन सा पदार्थ है जिससे इस पर कोई भी चीज़ नहीं चिपकती |

आइये जानते है—

क्या होता है नॉन स्टिक बर्तन :-

नॉन स्टिक बरतन में जो मटेरियल लगा होता है उसका नाम है Poly tetrafluoroethylene (PTFE) यानि की टेफलोंन |

टेफलोन क्या होता है?
Poly tetrafluoroethylene (PTFE) एक संश्लेषित फ्लूरोबहुलक है जिसकी खोज वैज्ञानिक डा. रॉय प्लंकेट ने की थी | एक अच्छी प्रकार की गैस बनाने के प्रयास में भूलवश गैसों के मिश्रण को रात भर के लिए एक डिब्बे में छोड़ गए | लेकिन जब सुबह लौट कर देखा तो गैस तो नहीं थी उसकी जगह मोम जैसे पदार्थ था जिस पर कोई भी वास्तु नहीं चिपकती थी |

बाद में इसका प्रयोग बर्तनों पर कोटिंग करने में होने लगा , इसको सेंद्ब्लासट के जरीय खुरदरा बना कर प्राइमर लगा कर बर्तनों पर लगाने लगे | और इसी पदार्थ को बर्तनों में लगा कर प्रयोग किया जाने लगा | जिसे आज हम नॉन स्टिक के नाम से जानते है |

Share this