मुहं की बदबू का घरेलु उपाय

मुंह की दुर्गंध के क्या कारण हैं ?

मुँह की बदबू को इंग्लिश में Helitosis कहते है जिसका मतलब होता है बदबूदार साँस । सांसो में बदबू आने के कई कारण होते है जैसे कच्चा लहसन प्याज खाना , जुकाम का बिगड़ जाना ,  सिगरेट बीड़ी का प्रयोग करना इत्यादि । कुछ कारक जो की खाने पीने से होते है वो कुछ घंटो बाद अपने आप ख़त्म हो जाते है । लेकिन यदि सांसो में बदबू लगातार कुछ दिनों तक रहे तो सावधान हो जाना चाहिए क्योंकि सांसो बदबू तभी आती है जब बैक्टीरिया का संक्रमण होने लगता है !

हम जब भी कुछ खाते  पीते है विशेषकर कोई मीठी वस्तु तो हमारे मुँह में सूक्ष्म बैक्टीरिया गतिशील हो जाते है । कभी कभी कुल्ला करने के बाद भी हमारे दाँतों के खाली जगहों में खाने

पीने की वस्तु के कण जमे रह जाते है इसिलिए कुछ भी खाने या पीने के बाद 4 – 5 बार अच्छे से कुल्ला कर लेना चाहिए |

कब्ज : मुहं में बदबू आने का एक और मुख्य कारण है कब्ज का लगातार बने रहना | इसी कब्ज की वजह से हमारे पेट की आंते साफ़ नहीं हो पाती जिससे गेस बनने लग जाती है और उसका

असर सांसो की बदबू के रूप में बाहर आता है |

जुकाम : अधिक दिनों तक जुकाम बने रहने के कारण नाक से बहने वाला पानी धीरे धीरे सड़ने लगता है जिससे अत्यधिक बदबू उत्पन्न होती है | इसीलिए जितनी हो सके अपने आपको साफ़

रखे और डॉक्टर की सलाह ले | प्राथमिक उपाय के रूप में आप 10 -15 तुलसी की पत्तियों को 2 दाने काली मिर्च के साथ 1 गिलास पानी में 10 मिनिट तक उबाल ले फिर सामान्य तापमान पर

ठंडा करके आधा नींबू और थोडा सा सैंधा नमक मिला कर घूँट घूँट कर के पी ले | यह उपाय कुछ दिन करे लाभ होगा | सर्दियों में यह आप गर्म गर्म पी सकते है और चीनी भूल कर भी ना ले

| चीनी की जगह आप गुड का प्रयोग कर सकते है |

मुँह की बदबू से छुटकारा कैसे पाये

संतरे, मोसमी चूसने से सांसो की बदबू से राहत मिलती है क्योंकि इन फलो में citiric acid पाया जाता है जो बदबू पैदा करने वाले जीवाणुओं को पनपने से रोकता है |
हरी इलायची :- हरी इलायची को मुह में रख कर एक एक दाना चबाने से भी लम्बे समय तक मुहँ की बदबू से निजात मिलती है | मुझे अगर इलायची नहीं मिलती तो मैं लौंग या चुटकी भर अजवायन का इस्तेमाल करता हूँ |

जब भी कुछ खाए तो हमेशा 5-6 बार कुल्ला करे इस बात पर कभी शर्म नहीं करनी चाहिए की बीच पार्टी में अलग से कुल्ला कैसे करे | आपके दांत ख़राब होने पर सबसे पहले यही लोग आपको दोष देंगे |

हल्दी : थोड़ी सी हल्दी में 2 चुटकी सैंधा नमक मिलाये फिर उसमे 5-6 बूंद सरसों के तेल और पानी डाल कर पेस्ट बना ले और उससे मंजन करे | मंजन करने से पहले और बाद में खाली ब्रश जरुर करे |

अनार:  जब भी सांसो की बदबू की वजह से आपका आत्मविश्वास कमजोर हो तो एक छोटा सा अनार जरुर खाए इससे दांत मजबूत रहते है और मुहँ की बदबू से भी राहत मिलती है |
नारियल :  भोजन के उपरांत एक छोटा सा टुकड़ा नारियल का जरुर खाना चाहिए क्योंकि इससे एक साथ कई लाभ प्राप्त होते है , मुहं की बदबू समाप्त होती है , भोजन पचाने में सहायक होता है , चहरे की कसरत होती है और दांत प्राकृतिक तरीके से साफ़ होते है |

पुदीना : अपने भोजन में पुदीना जरुर शामिल करे चाहे तो उसको चटनी की तरह खाए या बाद में कुछ पत्तिया मुहँ में दाल कर चबाये |

दांतों में कोई रोग होने पर भी बदबू आने लगती है ऐसे में किसी अच्छे आयुर्वेदिक डॉक्टर को दिखाना चाहिए और अच्छा आयुर्वेदिक मंजन या पेस्ट प्रयोग करना चाहिए |

Share this

Leave a Comment