मुहं में लार क्यों आती है ?

हमारे मुहं में लार क्यों आती है हमारी कोई भी पसंद की खाने की चीज देखकर हमारे मुहं में तुरंत लार आने लगती है क्यों ?

हमारे मुहं में लार पैदा करने वाली ग्रन्थियो के तीन जोड़े है, जो लगातार लार पैदा करते रहते है | हमारी लार में ९८% पानी और कुछ एंजाइम होते है | दरअसल लार का काम मुहं की झिल्ली को गीला रखना है, ताकि हमें बोलने में किसी भी तरह की असुविधा ना हो | लार में उपस्थित एमाइलेज नाम का एंजाइम हमारे भोजन में उपस्थित कार्बोहाईड्रेट को चीनी में बदल देता है | लार का हमारे जीवन में बहुत ही गहरा सबंध है |

लार की सहायता से हम भोजन को अच्छी तरह से चबाकर आसानी से निगल लेते है | लार ही हमारे भोज्य पदार्थो को घोलने का काम करती है, जिससे स्वाद कलिकाए उत्तेजित होकर हमें भोजन का स्वाद बताती है | लार में लाईसोजाइम नामक एक दूसरा एंजाइम भी होता है, जो बेक्टीरिया विनाशक होता है | इस एंजाइम के कारण मुहं में घुसने वाले जीवाणु मर जाते, और फिर रोगों की सम्भावना कम हो जाती है | कुछ लोगो को तो सोते समय भी लार आती है, ऐसा उन लोगो के साथ होता है जिनका पेट ख़राब होता है |

Share this