होली के खतरनाक केमिकल वाले रंगों से कैसे बचे

होली के रंगों को छुटाने के घरेलू नुख्से व उपाए

  1. होली से 2-3 दिन पहले से ही शरीर पर सरसों के तेल की मालिश शुरू कर देनी चाहिए | इससे त्वचा में तेल रम जायेगा | होली वाले दिन भी पूरे शरीर में तेल लगा लेना चाहिए, इससे होली का रंग त्वचा पर पर न लग कर तेल के उपरी सतह पर लगा रहेगा| शरीर पर लगाने के साथ ही यह तेल बालों में भी लगा लेना चाहिए,  इससे बालों को रंगों से खराब होने से बचा जा सकता है | क्योंकि तेल लगे हुए बाल कम रंग पकडते है और बालों में से रंग आसानी से निकल भी जाता है |
  2. तेल अच्छा नहीं लगता है तो इसके स्थान पर कोई लोशन भी लगाया जा सकता है | इससे भी त्वचा पर कोई पक्का रंग ज्यदा नहीं चढ पायेगा |
  3.  




     

  4. गंभीर बीमार होने से अच्छा है की कैमिकल रंगों से कभी भी होली नहीं खेले | रंग खेलने से पहले ही आप अपने रिश्तेदार, दोस्तों को साफ साफ इसके नुकसान बता कर साफ मना कर दे चाहे उनको बुरा क्यों न लगे | क्योकि उनकी तो 10 मिनिट की होली और आपका कई दिनों का नुकसान होने से अच्छा है मना कर दे |
  5. सबसे बढ़िया है घृतकुमारी यानि एलोवेरा (aloe vera) का गुदा निकाल कर उसको बालो और पुरे शरीर में लगा ले | इससे रंग आपकी त्वचा के संपर्क में कम आयेंगे और रंग भी जल्दी उतर जायेगा |
  6. होली खेलते समय अगर कोई सूखा रंग आंखों में चला गया है तो आंखों को साफ पानी से धोएं, होली के दिन बार बार पानी से आंखों को धोने भी उचित रह्ता है | पर ऎसे में यह ध्यान रखें, कि आंखों को मसले नहीं, इससे आंखो में जलन हो सकती है | आराम न मिलने पर फ़ौरन डॉक्टर को दिखाए |
  7. एक रात पहले ही मुल्तानी मिट्ठी भिगो कर रख ले और होली खेलने के बाद नहाने से एक घंटा पहले मुलतानी मिट्टी लगाएं और 15 –२० मिनिट बाद इसे धो दें |इससे आपके शरीर पर चड़ा हुआ रंग उत्तर जायेगा |
Share this

Leave a Comment